नगरीय निकाय एवं विकास विभाग




निदान 1100

जनता की मूलभूत पानी, बिजली, सफाई, जैसी समस्याओं के त्वरित निराकरण करने हेतु छत्तीसगढ नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा निदान 1100 योजना का शुभारंभ 06 मार्च 2012 को माननीय मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह द्वारा राजनांदगांव में किया गया।

108 की तर्ज पर निदान 1100

पब्लिक ग्रीवेंसेस सिस्टम के तहत निदान 1100 साफ्टवेयर तैयार किया गया है। एंबुलेंस सेवा 108 की तर्ज पर नगर निगम में सफाई, बिजली और पानी के संबंध में सभी दस नगर निगम में टोल फ्री नंबर 1100 पर शिकायत की जा सकेगी। शिकायत मिलते ही साफ्टवेयर में संबंधित निगम, जोन, वार्ड और अधिकारी का नाम स्वयमेव दर्ज हो जाएगा। अफसर को दो दिन के भीतर शिकायत का निदान करना होगा। निदान नहीं करने पर शिकायत ऊपर के अफसर के पास पहुंच जाएगी।

नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा नागरिकों की समस्याओं का निराकरण करने के लिए शुरू की गयी निदान-1100 के तहत अब तक लगभग 93 प्रतिशत शिकायतों का तत्काल निराकरण किया गया है। योजना शुरू होने से लेकर दो जुलाई 2012 तक निदान-1100 में सड़क प्रकाश व्यवस्था और पानी से संबंधित कुल सात हजार 134 शिकायतें प्राप्त हुई है, जिसमें से छह हजार 693 शिकायतों का निराकरण कर दिया गया है। इसमें से 82 ऐसी शिकायतें हैं, जिनका तत्काल निराकरण संभव नहीं है।

नगर निगम रायपुर में दो जुलाई 2012 तक प्राप्त कुल दो हजार 785 में से 2593, दुर्ग में प्राप्त एक हजार 332 में से 1237, राजनांदगांव में प्राप्त 394 में से 363, भिलाई में प्राप्त 843 में से 800, जगदलपुर में प्राप्त 213 में से 196, बिलासपुर में प्राप्त 494 में से 475, कोरबा में प्राप्त 505 में से 487, रायगढ़ में प्राप्त 258 में से 250, अम्बिकापुर में प्राप्त 114 में से 111 तथा नगर निगम चिरमिरी में प्राप्त 196 में से 181 शिकायतों का निराकरण किया गया है। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा नगर निगमों द्वारा निदान-1100 के माध्यम से प्राप्त शिकायतों के निराकरण की लगातार मॉनिटरिंग की जाती है

  • नगर पंचायत मल्हार में सी.सी. रोड हेतु 18 लाख रूपये, हाॅट बाजार निर्माण हेतु 40 लाख रूपये, पुष्प वाटिका निर्माण हेतु 11 लाख रूपये, सांस्कष्तिक भवन निर्माण हेतु 25 लाख तथा सरोवर-धरोहर योजना हेतु 11.85 लाख रूपये के विकास कार्यो सहित 1.5 करोड़ रूपये से अधिक राषि के विकास कार्यो का भूमिपूजन कर लोकापर्ण किया।
  • नगर पंचायत अध्यक्ष अजय देवागंन द्वारा 6 करोड़ रूपये की राशि की मांग की थी, जिसे स्वीकार करते हुए लगभग 3.7 करोड़ रूपये के विकास कार्यो की घोषणा की।